उत्तर प्रदेश के बरेली को तनाव हिंसा से बचाने पर आईपीएस प्रभाकर चौधरी को मिली सजा कर दिया तबादला

240 Views

बरेली के चकमहमूद मुहल्ले से जोगी नवादा के रास्ते पर कांवड़यात्रा निकालने को लेकर करीब 24 घंटे पहले रव‍िवार को बवाल हो गया था। कांवड़िये साउंड सिस्टम लेकर गली में एकत्र हुए तो 300 मीटर दूर नई परंपरा बताकर मुस्लिम महिलाएं प्रस्तावित मार्ग पर बैठ गईं थी। चार घंटे दोनों ओर से तनातनी होती रही, जिसे अधिकारी काबू नहीं कर सके। इस बीच किसी खुराफती ने हवाई फायरिंग की तो पुलिस ने कांवड़ियों के जत्थे पर लाठीचार्ज कर दिया था। आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए थे। शाम छह बजे प्रकरण थमा मगर, इसके चार घंटे बाद एसएसपी प्रभाकर चौधरी का तबादला कर लखनऊ पीएसी भेज दिया गया।

उत्तर प्रदेश के ये वो आईपीएस अधिकारी हैं। जिनकी चर्चा यूपी से लेकर देश भर के सोशल मीडिया में हो रही है। क्यों हो रही है. उत्तर प्रदेश का बरेली जिला। जहां रविवार को कांवड़ यात्रा भारी डीजे लेकर निकलती है लेकिन पुलिस इसे रोककर पहले समझाने की कोशिश करती नजर आती है, दावा होता है कि गैर परंपरागत इलाके से जानबूझकर कांवड़ यात्रा निकालने की कोशिश करने पर अड़े लोग जब पुलिस की भी नहीं सुनते हैं तो हल्का बल प्रयोग करते हुए लाठी चार्ज किया जाता है लोगों को उस इलाके से कांवड़ यात्रा निकालने से पुलिस रोकती है, जहां आशंका होती है कि माहौल बिगड़ सकता है। ये तस्वीरें उसी लाठीचार्ज की हैं। जिसके बाद दावा हुआ कि बरेली का माहौल बिगड़ने नहीं दिया गया.

 

Leave a Comment

You May Like This