भारत दर्पन न्यूज चैनल IND vs AUS: 10 वर्ष बाद भारत में वनडे सीरीज जीता ऑस्ट्रेलिया, ‘विराट टीम’ नहीं बचा सकी साख

Bharat Darpan updates
162 Views

भारत दर्पन न्यूज चैनल IND vs AUS: 10 वर्ष बाद भारत में वनडे सीरीज जीता ऑस्ट्रेलिया, ‘विराट टीम’ नहीं बचा सकी साख

 

 

नई दिल्ली

भारतीय क्रिकेट टीम बुधवार को फिरोज शाह कोटला मैदान पर साख की लड़ाई हार गई। ऑस्ट्रेलिया ने उसे पांचवें और निर्णायक वनडे मैच में 35 रनों से हरा दिया। इसी के साथ ऑस्ट्रेलिया ने शुरुआती दो मैच गंवाने के बाद भी लगातार तीन मैच जीत 3-2 से सीरीज अपने नाम की और दस साल बाद भारत में वनडे सीरीज जीतने का सम्मान हासिल किया। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम के सामने 273 रनों का लक्ष्य रखा, लेकिन भारतीय टीम 50 ओवरों में सभी विकेट खोकर 237 रन ही बना सकी। इससे पहले ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 2009 में भारत में वनडे सीरीज जीती थी। इस हार के साथ की कई अनचाहे रेकॉर्ड ‘विराट टीम’ के नाम हुए…

भारत की 10 वर्ष बाद हार

ऑस्ट्रेलिया की भारत में यह 10 वर्ष बाद पहली वनडे सीरीज जीत है। ऑस्ट्रेलिया ने इससे पहले 2009 में भारतीय सरजमीं पर 6 मैचों की सीरीज 4-2 से जीती थी। इस बार उसने पहले दो मैच गंवाने के बाद लगातार तीन मैच जीतकर सीरीज 3-2 से अपने नाम की।

7 वर्ष बाद सीरीज में 3 बार ऑल आउट

2012 के बाद पहली बार भारतीय टीम किसी भी सीरीज में 3 बार ऑल आउट हुई। आखिरी बार 2012 में ऑस्ट्रेलिया में हुई त्रिकोणीय सीरीज में भारत 3 बार ऑल आउट हुआ था।

2015 के बाद पहली बार घर में हार

भारतीय टीम ने 2015 के बाद पहली बार घर में वनडे सीरीज गंवाई है। उसे आखिरी बार साउथ अफ्रीका ने अक्टूबर, 2015 में 3-2 से हराया था।

घर में विराट की कप्तानी में पहली हार

विराट की कप्तानी की बात करें तो यह उनकी कप्तानी में घरेलू मैदान पर पहली वनडे सीरीज हार है। यही नहीं, एक और अनचाहा रेकॉर्ड विराट के नाम हुआ। दरअसल, यह पहला मौका है, जब विराट की कप्तानी में भारतीय टीम ने लगातार 3 वनडे मैच गंवाए।

0-2 से पिछड़ने के बाद सीरीज जीतने वाली टीमें

यह वनडे में पांचवां अवसर है, जबकि किसी टीम ने पहले दो मैच हारने के बाद सीरीज जीती। ऑस्ट्रेलिया से पहले दक्षिण अफ्रीका (दो बार), बांग्लादेश और पाकिस्तान ने यह उपलब्धि हासिल की थी। भारत ने दूसरी बार पहले दो मैच जीतने के बाद सीरीज गंवाई। इससे पहले 2005 में पाकिस्तान के खिलाफ वह शुरुआती बढ़त का फायदा नहीं उठा पाया था।

यूं समझें

3-2: साउथ अफ्रीका ने पाकिस्तान के खिलाफ 2003 में यह कारनामा किया था।

3-2: बांग्लादेश ने जिम्बाब्वे के खिलाफ 2005 में वनडे सीरीज जीती थी।

4-2: पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ 2005 में हार के बाद वापसी करते हुए सीरीज जीती थी।

3-2: साउथ अफ्रीका ने इंग्लैंड के खिलाफ 2016 में पिछड़ने के बाद सीरीज अपने नाम की।

3-2: और अब ऑस्ट्रेलिया ने भारत के खिलाफ सीरीज के दो मैच हारने के बाद लगातार 3 मैच जीते और सीरीज पर कब्जा जमाया।

भारी पड़ता है दिल्ली में 250+ का चक्कर

अगर फिरोजशाह कोटला के रेकॉर्ड को देखें तो भारत के लिए लक्ष्य हासिल करना आसान नहीं था। इस मैदान पर केवल दो अवसरों पर 250 रन से अधिक के लक्ष्य को सफलतापूर्वक हासिल किया गया। आाखिरी बार विश्व कप 1996 में श्री लंका ने यह कारनामा किया था।

भारतीय क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने पूरे कर लिए। रोहित अपने 206वें एकदिवसीय में इस उपलब्धि को हासिल करने वाले सौरभ गांगुली के साथ तीसरे सबसे तेज खिलाड़ी बने। दोनों खिलाड़ियों ने 200 पारियों में इस उपलब्धि को हासिल किया। एकदिवसीय में सबसे कम मैचों में 8000 रन का अंकड़ा छूने का रेकॉर्ड भारतीय कप्तान विराट कोहली ने नाम है। उन्होंने 175 पारियों में इस उपलब्धि को हासिल किया था जबकि दूसरे स्थान पर काबिज दक्षिण अफ्रीका के दिग्गज एबी डि विलियर्स इस मुकाम पर 182 पारी में पहुंचे थे।