नीतीश का चेहरा न होता तो प्रतिपक्ष के नेता सदन नहीं पहुंचते :प्रवक्ता श्रीकांत

Bharat Darpan updates
12 Views

 

संवादाता अवनीश

गया जिला जनता दल यू के प्रखर वक्ता श्रीकांत प्रसाद ने नेता विरोधी दल पर तेजस्वी यादव से कहा बिहार की जनता अब आपकी बात नहीं सुनेगी महागठबंधन का जनादेश मिला था। वह विकास पुरुष जनता दल यू के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के चेहरे पर था। यह भ्रष्टाचार या लालू परिवार के विकास के लिए नहीं था। यदि नीतीश कुमार का चेहरा हटा देते तो राजद का परिणाम 2010 में आया था उससे भी नीचे आता। नीतीश सिर्फ विकास के बारे में सोचते हैं वह अपनी शर्तों पर राजनीति करते हैं। उनको कभी भी पद का लालच नहीं हुआ। कई दफा उन पदों को छोड़ा जिसे पाने के लिए लोग तरसते हैं। उन्होंने राजनीति सिर्फ सेवा के लिए की है। उनका चेहरा न होता तो दोनों भाई सदन में भी नहीं पहुंचते।

City News